केजरीवॉर भई केजरीवॉर

ये केजरीवॉर क्या है?
[क्या यह एक व्यक्ति है?]
नहीं,
शायद एक प्रवृत्ति है!
जो हर आदमी के भीतर है.

दस्तक

न वर्ल्ड वॉर न सिविल वॉर
केजरीवॉर भई केजरीवॉर!
["सब चोर हैं!"]
अब तो होगा आर या पार
केजरीवॉर भई केजरीवॉर!
[आम आदमी कहां है?]
हमें नहीं दूसरों की दरकार
केजरीवॉर भई केजरीवॉर!

बैठक

गदर करेंगे गदर करेंगे
[भाग क्यों गए... मैदान छोड़ के?]
गदर करेंगे गदर करेंगे
[बागी हैं... इवेंट मैनेजर नहीं]
गदर करेंगे गदर करेंगे
[हमारे सवालों का जवाब दो... दो ना... ]
जंतर मंतर पर मिलेंगे... मिलेंगे...
[और संसद में?]
[कहा ना... सुनाई नहीं देता… क्या?]
“सब चोर हैं”!
+++
Cartoon: गणेश
अबकी बार मोदी सरकार!
[आंय, ये क्या है?]
अबकी बार मोदी सरकार!
['से' (say)... जोर से]
अबकी बार मोदी सरकार!
['से' (say)... और जोर से]
अबकी बार मोदी सरकार!
[शोर में भी बोलो]
अबकी बार मोदी सरकार!
['से' (say)... एव्रीबॉडी...]
अबकी बार मोदी सरकार!
[कुछ सुनाई नहीं दे रहा]
अबकी बार मोदी सरकार!
[ट्वीट करो]
अबकी बार मोदी सरकार!
[लाइक कराओ]
अबकी बार मोदी सरकार!
[भसड़ मचा दो]
सबके पीछे संघ परिवार
अबकी बार मोदी सरकार!
+++
न मोर्चा बनेगा ना सरकार
पहली बार, पहली बार
मत लो पंगा या तकरार
[कंट्रोल यार...]
फैमिली पार्टी सुखी परिवार
पहली बार, पहली बार
एक साइकिल नौ सवार
[हल्ला बोल...]
देखके नहीं चल सकते
[पर धक्का तो मैंने खाया है]
तो...
बच्चे हैं, गलती हो जाती है
[पर चोट तो मुझे लगी है]
तो क्या...
फांसी पर चढ़ा दोगे?

रुख़सत

ये केजरीवॉर क्या है?
[क्या यह एक व्यक्ति है?]
नहीं,
शायद एक प्रवृत्ति है?
जो हर आदमी के भीतर है!
उतना ही चंचल,
उतना ही व्यग्र.
सतत!
शाश्वत!
संघर्षरत!
अभी के अभी
एक साथ
सब कुछ पा जाने को बेताब!

2 comments:

  1. इसमें तमाम राजनेताओं के बयानों में कहे गये शब्दों को इस कदर गुंथा गया है कि तारतम्य कायम रखते हुए एक अपने आप में नायाब अंश बन गया है जो पढ़नेवाले की जेहन को यक-ब-यक बेध जाता है। भविष्य में भी ऐसी पठनीय सामग्री के मुंतजिर।

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छा! उम्दा प्रहसन.

    ReplyDelete

आपके विचार बहुमूल्य हैं. अपनी बात जरूर रखें: